हमने अपने जीवन में कई बार सुना होगा कि आम लोग पुलिसकर्मियों के खिलाफ उच्च अधिकारियों के पास शिकायत करने जाते हैं। जहां आम आदमी पुलिसकर्मियों के द्वारा सुनवाई ना किए जाने या सुनवाई में देर किए जाने की शिकायत उच्च अधिकारियों से करते रहते हैं। लेकिन उत्तर प्रदेश के कानपुर से एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां ग्रामीण चौकी प्रभारी का ट्रांसफर रुकवाने के लिए क्षेत्राधिकारी के पास पहुंच गए थे।

दरअसल कानपुर के महाराजपुर थाना क्षेत्र के सुनहला चौकी के चौकी इंचार्ज का ट्रांसफर रुकवाने के लिए इलाके के ग्रामीण सीओ सदर के पास पहुंचे थे। उनका कहना था कि चौकी इंचार्ज योगेश सिंह का ट्रांसफर रोक दिया जाए, क्योंकि वह सदैव क्षेत्र के लोगों के साथ ईमानदारी और निष्ठा के साथ खड़े रहते हैं और उनकी कार्यशैली सदैव लोगों के हित में होती है।

आपको बता दें कि महाराजपुर थाना क्षेत्र के सुनहला चौकी के चौकी इंचार्ज योगेश सिंह का उस चौकी से स्थानांतरण कर दिया गया था और उन्हें अपनी नई तैनाती की जगह बताई ही जानी थी कि ग्रामीणों को इस बारे में पता चल गया। जिसके बाद ग्रामीण तत्काल एकत्रित होकर सीओ सदर के पास जा पहुंचे और चौकी इंचार्ज योगेश सिंह का ट्रांसफर रुकवाने की मांग करने लगे।

सीओ सदर के पूछने पर कि उनका ट्रांसफर क्यों ना किया जाए? ग्रामीणों ने कहा कि वह सदा क्षेत्र के लोगों के साथ खड़े रहते हैं। इलाके के लोगों की बहन बेटियों की शादी हो और घरों के छोटे-मोटे कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर परिवार की तरह हिस्सा लेते हैं. ग्रामीणों ने बताया कि अब वह एकमात्र पुलिस अधिकारी ही नहीं हमारे परिवार का सदस्य जैसे हैं. इसलिए हम चाहते हैं कि उनका ट्रांसफर ना किया जाए।

इस दौरान सीओ सदर के ऑफिस में पहुंचे ग्रामीणों का कहना था कि वह अभी सीओ सदर के पास चौकी इंचार्ज योगेश सिंह का ट्रांसफर रुकवाने के लिए आए हैं। यदि जरूरत पड़ी तो व डीआईजी या उससे भी ऊपर तक के अधिकारियों के पास जाएंगे और हर हाल में चौकी इंचार्ज योगेश सिंह का स्थानांतरण नहीं होने देंगे। गौरतलब है कि चौकी इंचार्ज योगेश सिंह अपने क्षेत्र में अपने कार्यों के लिए काफी प्रसिद्ध है तथा उनकी ईमानदार छवि लोगों के दिलों में बस गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?