बॉलीवुड कई सारी फिल्मे बनता है को भूल जाता है जिसमे से कुछ बहुचर्चाओं का विषय बनती हैं तो कुछ फ़िल्में सिनेमा घरों तक ही नहीं पहुच पाती। वही इस बार अपनी रिलीज़ से पहले ही चर्चाओं का विषय बनी आलिया भट्ट Alia Bhatt अपनी आगामी फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ Gangubai Kathiawadi के जरिए फैंस का मनोरंजन करने के लिए तैयार हैं।

कुछ समय पहले ही इस फिल्म का टीजर रिलीज किया गया है। टीजर सामने आने के बाद से ही आलिया भट्ट की ये फिल्म लगातार सुर्खियों में बनी हुई है। इसी बीच फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ विवादों में घिर गई है। फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ में कमाठीपुरा Kamathipura मुंबई का रेड लाइट एरिया का जिक्र किया गया है।

आलिया भट्ट की फिल्म में कमाठीपुरा मुंबई का रेड लाइट एरिया का नाम सामने आते ही वहां रहने वाले लोगों ने आपत्ति जताना शुरू कर दिया है। लोगों का मानना है कि फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ में कमाठीपुरा के 200 साल के इतिहास को खराब करने की कोशिश की गई है. फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ में इस रेड लाइट एरिया का नाम आने से वहां रहने वाले लोगों की भावनाए आहत हो गई हैं।

साथ ही लोगों का मानना है कि उन्होंने कमाठीपुरा की छवि सुधारने के लिए काफी मेहनत की है. फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की वजह से उनकी मेहनत पर पानी फिर गया है। ऐसे में लोग ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ के विरोध में उतर आए हैं. इतना ही नहीं वह कमाठीपुरा के लोग ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ की रिलीज को भी रोकने पर अड़े हुए हैं।

बता दें कि कमाठीपुरा के रेड लाइट एरिया को 200 साल पहले अंग्रेजों ने बनवाया था। अंग्रेजों ने इस जगह को अपने सैनिकों के कंफर्ट जोन के तौर पर तैयार किया था। कमाठीपुरा में आज भी हजारों सेक्स वर्कर काम करते हैं. कमाठीपुरा की स्थिति काफी खराब है। यहां पर बांग्लादेश और नेपाल से लड़कियां लाईं जाती हैं। ये जगह मुंबई के मालाबार हिल, कोलाबा, वर्ली और मझगांव के ठीक बीच में बसी है। जिसके चलते फिल्म की वजह से लोगों में एक अलग आक्रोश छाया हुआ है।अब आने वाला वक़्त ही यह ज़ाहिर करेगा की फिल्म को किस प्रकार रिलीज़ किया जायगा या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?