corona test

उत्तर प्रदेश में कोरोना का खतरा फिर से मंडराता दिख रहा है, सरकार ने कई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं। कोरोना (Corona Test Kit) का दूसरा स्ट्रेन पहले से ज्यादा घातक बताया जा रहा है, कई प्रदेशों में साप्ताहिक लॉकडाउन भी लगाया जा चुका है, वही सूबे की प्रदेश सरकार ने स्कूलों में फिर से अवकाश घोषित किया है। वही चुनावी रैली, जनसभा में सौ से अधिक व पंचायत चुनाव में पांच से अधिक लोगों के द्वारा मीटिंग बैठक न करने की गाइडलाइंस जारी की है।

इन सबके बीच यूपी के ही इटावा जिले ने स्थित इटावा रेलवे स्टेशन परिसर में कोरोना किट (Corona Test Kit) से जांच कर रहे स्वास्थ्यकर्मी की बड़ी लापरवाही देखने को मिली। स्टेशन पर यात्रियों की कोविड जांच के बाद बायोमेट्रिक कचरा सार्वजनिक स्थल पर जलाते दिखे स्वास्थ्यकर्मी, जब उनसे पूछा गया कि यह क्या जला रहे ? तो उसने बताया कोविड के एंटीजन कार्ड जला रहे हैं। जब उनसे कहा गया क्यों जला रहे है सार्वजनिक स्थल पर तो मीडिया को देख, अपनी गलती मानते हुए स्वास्थ्यकर्मी ने बताया कि इसको जलाने का ही आदेश है। लेकिन हमने यहां जला दिया यह गलती है, इतनी बात को कहते हुए कर्मी भागते नजर आए।

corona

वही स्टेशन परिसर में दूसरे स्वास्थ्यकर्मी से इस मामले पर बात की गई, तो उन्होंने इस कचरे को जलाने की बात कही और कहा कि हम क्या इसको साथ ले जाएंगे, और इस कचरे को जलाने से कोई खतरा नही है, यह सिर्फ किट के रैपर थे।
अब सवाल यह उठता है, कि कोरोना महामारी के दूसरे बढ़ते स्ट्रेन को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग इस लापरवाही के साथ कोरोना से लड़ेगा ?

इटावा सीएमओ  एन एस तोमर ने मामले लापरवाही बरतने वालो पर, कार्यवाही की बात कही। सीएमओ ने कहा यह बायोकेमिकल वेस्ट को एक कम्पनी द्वारा अनुबंध किया गया है, उसी कम्पनी के द्वारा सारा बायोकेमिकल वेस्ट को एकत्रित करके, उसको नष्ट किये जाने का प्रावधान है। इस मामले पर जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ।

 Latest news today

Today Latest news in India | current politics in India | politics news India

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें | ईमेल कर सकतें है। 

jarasuniye2019@Gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?