nursing home

झाँसी में लगातार बढ़ रहे नए कोरोना के मरीजों को देखते हुए जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने बताया कि जनपद में अभी 4 प्राइवेट नर्सिंगहोम ही कोविड पेशेन्ट (COVID Patient) का सशुल्क इलाज कर रहे थे परंतु अब 07 अन्य प्राइवेट नर्सिंग होम ने कोविड-19 पेशेन्ट के इलाज करने की सहमति प्रदान की है, यह पहल स्वागत योग्य है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 पेशेन्ट की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। मेडिकल कालेज में अब मरीजों की संख्या नियंत्रित हो सकेगी क्योंकि नगर के अन्य प्राइवेट नर्सिंग होम में भी कोविड-19 पेशेन्ट का इलाज हो रहा है।

जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व में डॉ शुभदीप आईसीयू एंड रिसर्च सेंटर 16 बेड, मां पीतांबरा केयर एंड क्योर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल 30 बेड, हाइटेक हॉस्पिटल 20 बेड, जर्मनी हॉस्पिटल व सैंट ज्यूज्म हॉस्पिटल 22 बेड, जिसमें आईसीयू /नान आईसीयू के साथ ही वैन्टीलेटर व अन्य सुविधाएं दी जा रही थी। इसके साथ ही अन्य प्राइवेट नर्सिंग होम जिसमें निर्मल हॉस्पिटल, चिरंजीवी मेडिकल सेंटर, राघवेंद्र हॉस्पिटल, विनायक हॉस्पिटल, नजा हॉस्पिटल, तिरुपति आईसीयू सेंटर (कमला हॉस्पिटल) और लाइफ लाइन हॉस्पिटल में भी कोविड-19 पेशेन्ट का सशुल्क उपचार होगा। सभी में 10-10 बेड आरक्षित हैं।

health care

झांसी के जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 पेशेन्ट को आईसीयू, वेंटीलेटर की सुविधाओं सहित अन्य सुविधाएं प्राप्त होंगी। उन्होंने बताया कि प्राइवेट नर्सिंग होम में सभी आने वालों की कोविड-19 (COVID Patient) की जांच सुनिश्चित की जाए। साथ ही 20 सैंपल आरटीपीसीआर की जांच हेतु मेडिकल कॉलेज भेजना भी सुनिश्चित करें। अधिक से अधिक टेस्टिंग से ही कोरोना की रफ्तार को रोका जा सकेगा। जिलाधिकारी ने आव्हान करते हुए कहा कि कोविड-19 पेशेन्ट के इलाज हेतु अन्य प्राइवेट नर्सिंग होम में भी अपनी सहमति प्रदान करें ताकि अन्य का भी बेहतर ढंग से इलाज किया जा सके।

गौरतलब है कि देश में कोरोना की दूसरी लहर ने एक बार फिर से कहर बरपाना शुरू कर दिया है। देश के साथ-साथ प्रदेशों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू जैसे हालात द्वारा तैयार हो रहे हैं। हालांकि सरकार ने स्पष्ट किया है कि अब लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा, लेकिन सरकार कोरोना मामलों को देखते हुए कई जगहों पर लाइट कर्फ्यू लगा रही है।

 Latest news today | Latest Business News | Latest Crime News

Today Latest news in India 

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें | ईमेल कर सकतें है। 

jarasuniye2019@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?