देश के कई राज्यों के साथ ही उत्तर प्रदेश में वैश्विक आपदा कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है, जिसमें सर्वाधिक कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिलने के मामले में राजधानी लखनऊ ने प्रदेश के सभी जिलों को पीछे छोड़ दिया है। यूपी में जहां पिछले 24 घंटे में 12,787 नए मामले सामने आए हैं, वहीं लखनऊ में पिछले 24 घंटे में कोरोना का “महाबम” फूटा है। राजधानी में एक दिन में अब तक सबसे अधिक 4,059 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। कोरोना के सबसे ज्यादा मामले मिलने के बाद लखनऊ में आज रात से सख्ती बढ़ाई जाएगी तथा जिन क्षेत्रों में मामले ज्यादा बढ़ रहे हैं वहां प्रतिबंध बढ़ाए जायेंगे।

राजधानी लखनऊ में पिछले 24 घंटे में 23 और लोगों की मौत के साथ कोरोना से अब तक 1,301 लोगों की जान जा चुकी है। लखनऊ में अकेले केजीएमयू में ही कुलपति सहित अब तक करीब 100 डाक्टर कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने निर्णय लिया है कि 12 अप्रैल से ओपीडी बंद रहेगी, केवल इमरजेंसी सेवाएं चलतीं रहेंगी। वहीं यूपी में 48 और लोगों की मौत के साथ अब तक प्रदेश में कोरोना से 9,048 लोगों की जान जा चुकी है। यूपी के बड़े शहरों की बात की जाए तो प्रयागराज में 1,460, वाराणसी में 983, कानपुर नगर में 706 एवं गोरखपुर में 422 कोरोना के नए पाॅजिटिव मरीज मिले हैं। जबकि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के सर्वाधिक 1,45,384 नए मामले सामने आए हैं तथा 780 और लोगों की कोरोना से जान गई है।

बलरामपुर व सिविल में भी कोरोना का कहर

राजधानी के मेडिकल कॉलेज के बाद दूसरे बड़े अस्पताल बलरामपुर अस्पताल में कोरोना का कहर बरपा है। बलरामपुर अस्पताल के निदेशक डाॅ राजीव लोचन, सीएमएस डॉ एके गुप्ता और अधीक्षक डाॅ हिमांशु चतुर्वेदी एवं अस्पताल के 7 कर्मचारी भी पाॅजिटिव मिले हैं। वहीं डाॅ श्यामा प्रसाद मुखर्जी अस्पताल (सिविल) के चार डाक्टर कोरोना पाॅजिटिव मिले हैं, जिनमें डाॅ दीपक कुमार चौधरी, डाॅ राजेश श्रीवास्तव, डाॅ रश्मि शर्मा एवं डाॅ राकेश सिंह शामिल हैं।

गोरखपुर में भी लगाया जाएगा नाइट कर्फ्यू

यूपी सरकार के राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला की रिपोर्ट भी पाॅजिटिव आई है, जिसके बाद उन्होने अपने को होम क्वारंटीन कर लिया है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में भी अब नाइट कर्फ्यू लगेगा। मुख्यमंत्री ने आज दिन में गोरखपुर में स्थिति की समीक्षा के बाद जिला प्रशासन से कहा था कि जरुरत पड़ने पर नाइट कर्फ्यू लगाया जाए, जिसके बाद वहां के जिला प्रशासन की ओर से कहा गया है कि गोरखपुर में 11 अप्रैल से 18 अप्रैल तक रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाया जाएगा।

कोरोना पर विशेष संवाद कार्यक्रम का आयोजन

यूपी में बढ़ते कोरोना पर विशेष संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में कल होगा ये कार्यक्रम। कोरोना पर राजनीतिक दलों से होगा संवाद। बैठक में राजनीतिक दलों के अध्यक्ष रहेंगे मौजूद। सभी पार्टियों के प्रमुख नेता भी मौजूद रहेंगे। टीकाकरण के प्रति जागरूकता के लिए होगी बैठक।12 अप्रैल को सभी महापौरों, पार्षदों से भी होगा संवाद। चेयरमैनों, स्थानीय निकायों के प्रतिनिधियों से संवाद। 13 अप्रैल को धर्मगुरुओं संग होगा संवाद।संवाद में कोविड जागरूकता एवं बचाव पर होगी चर्चा।

13 आईएएस की डीएम के साथ लगाई गई ड्युटी

कोरोना के बढ़ते मामलों पर प्रभावी रोकथाम लगाने हेतु 13 आईएएस अफसरों की जिलों में ड्यूटी लगाई गई।कोरोना रोकथाम के लिए जिले में भेजे गए आईएएस। पहले कमिश्नर से सम्बद्ध किए गए थे आईएएस, इस बार डीएम से सम्बद्ध किए गए आईएएस अफसर। हालांकि डीएम के साथ सबद्ध किए जाने को लेकर आईएएस में नाराजगी है। विशेष सचिव विपिन जैन की लखनऊ के जिलाधिकारी के साथ लगाई गई ड्यूटी। निदेशक मंडी अंजनी सिंह को कानपुर, एडी सूडा आलोक सिंह को प्रयागराज, नोएडा एसीईओ अमनदीप को गाजियाबाद, यमुना एसीईओ रवींद्र सिंह को नोएडा एवं बीडा सीईओ संदीप कुमार को वाराणसी के डीएम के साथ सबद्ध किया गया।

Faridabad News Channel | Today Latest News in Hindi | Latest News Today in Hindi | Today Crime News in Hindi

Fashion and Entertainment News India

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?