यूपी के गोरखपुर में ताबड़तोड़ हत्‍याओं से सनसनी फैल गई है. देर रात 11 बजे बदमाशों ने मोबाइल आटो पार्ट्स के व्‍यापारी की फिल्‍मी अंदाज में घर पर ही गोली मारकर हत्‍या कर दी। तीन बदमाश पहले व्‍यापारी के घर पहुंचे, उसके बाद घर पर पत्‍थर फेंकने लगे। इसके बाद प्रथम तल पर मोबाइल कारोबारी जैसे ही बालकनी से नीचे देखने लगे, घर के नीचे खड़े बदमाशों ने फायर कर दिया। बदमाशों ने तीन गोली चलाई और 30 वर्षीय व्‍यापारी वेद प्रकाश वहीं पर गिर गए। इसके बाद बदमाश बाइक से फरार हो गए।

शाहपुर थाना क्षेत्र के खरैया पोखरा में शुक्रवार की देर रात 11 बजे तीन बदमाशों ने व्यापारी वेद प्रकाश (30) को गोलियों से भून दिया। मृत व्‍यापारी के बड़े भाई मनोज कुमार चौधरी ने बताया कि वे हरैया में थे। वहां से पत्‍नी को काल कर बात कर रहे थे। इसी दौरान घर पर पत्‍थर फेंकने की आवाज उन्‍हें मोबाइल से सुनाई दी। उन्‍होंने खिड़की से पत्‍नी से बाहर देखने को कहा। इस बीच छोटा भाई वेद प्रकाश प्रथम तल पर जाकर नीचे देखने लगा। इस दौरान ही उन्‍हें पटाखे जैसी आवाज सुनाई दी, लेकिन, वो गोली की आवाज थी।

उनके भाई की बदमाशों ने गोली माकर हत्‍या कर दी और फरार हो गए। उन्‍होंने बताया कि एक सप्‍ताह पहले उनके भाई का किसी से विवाद हुआ था। घरवालों के मुताबिक शुक्रवार की रात में 10 बजे भोजन करने के बाद वेद प्रकाश और उनकी पत्नी रेखा पहले मंजिल पर स्थित अपने कमरे में सोने चले गए। 11 बजे के आसपास उनके गेट पर किसी ने पथराव शुरू कर दिया। आवाज सुनकर वेद प्रकाश कमरे से बाहर निकले कि रात में पथराव कौन कर रहा है। ये देखने के लिए गेट पर पहुंचे, तो घात लगाकर खड़े तीन बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

सिर, आंख और कान के पास गोली लगने से वेद जमीन पर गिरकर तड़पने लगे। गोली की आवाज सुनकर घरवाले बाहर आ गए। वारदात के बाद बदमाश फायर करते हुए फरार हो गए। आनन फानन व्यापारी को लेकर परिवार के लोग मेडिकल कॉलेज पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पाकर एसएसपी दिनेश कुमार पी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस सर्विलांस और सीसी टीवी कैमरे की मदद से जांच में जुट गई है।

हत्या किसने और क्यों की, इसकी जांच पुलिस कर रही है। घटना की वजह स्पष्ट नहीं है। मूल रूप से बस्ती जिले के पैकवलिया, पिपरासाजी निवासी और मृतक के पिता कृष्ण स्वरूप पूर्वोत्तर रेलवे में तृतीय श्रेणी कर्मचारी हैं। खरैया पोखरा में मकान बनवाकर परिवार के साथ रहते हैं। उनकी तीन संतानों में सबसे छोटे बेटे 30 वर्षीय वेद प्रकाश पहले दवा का कारोबार करते थे, बाद में वह मोबाइल पार्ट्स के थोक व्यापार करने लगे। इस मामले में पुलिस के आलाधिकारियों ने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

Faridabad News Channel | Today Latest News in Hindi | Latest News Today in Hindi | Today Crime News in Hindi

Fashion and Entertainment News India

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?