yogi

गोरखपुर (Gorakhpur Election) में चुनावी रंजिश में होने वाली घटनाएं रुकने का नाम ही नहीं ले रही हैं. एक के बाद एक गोली चलने की घटनाओं ने पुलिस प्रशासन की नाक में दम कर दिया है. चुनावी रंजिश में गोरखपुर के एक गांव में एक बदमाश ने पिस्‍टल से ताबड़तोड़ छह राउंड गोली चलाकर प्रत्‍याशी समेत तीन लोगों को गंभीर रूप से घायल कर दिया. घायलों को तत्‍काल जिला अस्‍पताल लाया गया. जहां से दो लोगों को हालत गंभीर होने पर बीआरडी मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया. वहीं आरोपी को पकड़कर लोगों ने जमकर धुनाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया. उसका जिला अस्‍पताल में इलाज चल रहा है.

गोरखपुर (Gorakhpur Election) के बेलीपार थानाक्षेत्र के हाटा चंदौली बुजुर्ग गांव में शाम 4.00 बजे के करीब के करीब गांव के सम्‍मय माता स्थान पर प्रधान प्रत्‍याशी शीला गुप्‍ता के समर्थन में निर्वमान प्रधान अवधेश सिंह शिव चर्चा कार्यक्रम करा रहे थे. इसी दौरान वहां पहुंचे दूसरे पक्ष के प्रत्‍याशी संतोष निषाद का समर्थक जयेश निषाद वहां पहुंचा और पिस्‍टल से ताबड़तोड़ छह राउंड गोली चला दी. अचानक हुए इस हमले में तीन से चार गोलियां अवधेश सिंह को लगी है. वहीं समर्थक नंद गोपाल प्रजापति भी गोली लगने से घायल हो गए. इसके अलावा प्रधान प्रत्‍याशी शीला गुप्‍ता भी आंशिक रूप से घायल हो गईं. तीनों को जिला अस्‍पताल लाया गया है.

Yogi

जहां से अवधेश सिंह और समर्थक नंद गोपाल प्रजापति को बीआरडी मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया है. अखिलेश 15 साल से प्रधान रहे हैं. इस बार वे शीला गुप्‍ता का समर्थन कर रहे हैं. घटना की सूचना मिलने के बाद जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र प‍ाण्डियन और एसएसपी दिनेश कुमार पी भी मौके जिला चिकित्‍सालय पहुंचे और वहां पर रिश्‍तेदारों और प्रत्‍यक्षदर्शियों से पूछताछ कर जानकारी हासिल की. इस बीच गोली चलाने वाले आरोपी जयेश निषाद को भी वहां मौजूद लोगों ने पकड़ लिया. उसकी पिटाई कर गंभीर रूप से घायल कर दिया. घायलावस्‍था में आरोपी को भी जिला चिकित्‍सालय में पुलिस अभिरक्षा में इलाज के‍ लिए लाया गया है.

पूर्व प्रधान अखिलेश सिंह के भतीजे अजीत सिंह ने ब‍ताया कि अखिलेश सिंह के सीने और गर्दन में तीन गोली लगी है. नन्द गोपाल प्रजापति के पैर में एक गोली लगी है. दोनों को डाक्टरों ने मेडिकल कालेज रेफर कर दिया. जहां अखिलेश सिंह की हालत नाजुक बनी हुई है. प्रधान प्रत्याशी शीला देवी के दाएं हाथ को छूते हुए गोली निकल गई है. प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें घर भेज दिया गया. हिरासत में लिए गए जयेश से पुलिस पूछताछ कर रही है. वारदात की साजिश रचने वाले दूसरे प्रत्याशी संतोष और उसके साथियों की तलाश में बेलीपार पुलिस छापेमारी कर रही है.

आरोपी जयेश निषाद ने बताया कि तीन साल से विवाद था. 50 हजार रुपए और समर्थन देने की बात की. उसने बताया कि उसने सोचा कि हमारे परिवार को मारने की धमकी दे रहे हैं. तो मैं ही क्‍यों न मार दूं. उसने बताया कि उसने छह राउंड फायर किया. अवधेश को उसने टारगेट करके गोली चलाई थी. आसपास खड़े नंद किशोर और प्रत्‍याशी शीला गुप्‍ता को भी गोली लग गई.

गोरखपुर (Gorakhpur Election) के जिला चिकित्‍सालय के एसआईसी डा. अभय चन्‍द्र श्रीवास्‍तव ने बताया कि दो लोगों को जिला चिकित्‍सालय लाया गया है. यहां पर उनके गले और सीने में गन शॉट के निशान हैं. घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद बीआरडी मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया है. गोली कैसे और किसने मारी इसके बारे में पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी ही विस्‍तृत जानकारी दे पाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?