भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर के अनुसार ऐसी चर्चा चल रही है कि न्यूजीलैंड को भारत के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल मुकाबले से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने से फायदा मिलेगा। हालांकि, गावस्कर का कहना है कि वह इस बात से सहमत नहीं है।

केन विलियम्सन की कप्तानी वाली न्यूजीलैंड टीम का सामना इंग्लैंड के साथ दो जून से होना है। दोनों टीमों के बीच टेस्ट सीरीज 14 जून को खत्म होगी जिसके बाद कीवी टीम 18 जून से भारत के साथ डब्ल्यूटीसी का फाइनल मुकाबला खेलेगी। गावस्कर ने कहा, कुछ लोगों का मानना है कि डब्ल्यूटीसी फाइनल मुकाबले से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने से न्यूजीलैंड को फायदा होगा क्योंकि वह यहां के वातावरण को समझ लेंगे।

उन्होंने कहा, लेकिन इसका दूसरा पहलू भी है। अगर न्यूजीलैंड को इस सीरीज में हार का सामना करना पड़ा तो उनका मनोबल टूटेगा और हो सकता है कि उनके कुछ खिलाड़ियों को चोट से जूझना पड़े क्योंकि जून की शुरूआत में इंग्लैंड में अक्सर ऐसा होता है।

गावस्कर ने कहा, भारतीय टीम के लिए एक फायदा रहेगा कि जब वह फाइनल मुकाबले में उतरेगी तो एक दम तरोताजा और ऊर्जा से भरी हुई रहेगी। इतने दिनों के अंतराल के बाद मैच खेलने से इनका उत्साह चरम पर रहेगा। पूर्व कप्तान ने कहा, यह टीम ऐसी है जिसने विपरीत परिस्थितियों में सफलता का स्वाद चखा है, इसलिए किसी भी तरह की विषम स्थिति इनके लिए इससे पार पाने का एक अवसर होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?