छत्रसाल स्टेडियम में 23 वर्षीय पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के मामले में गिरफ्तार ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच आज उत्तराखंड के हरिद्वार लेकर गई है। सूत्रों के मुताबिक सुशील कुमार अपनी फरारी के दौरान हरिद्वार भी गया था। दिल्ली पुलिस अब उन लोगों से पूछताछ करेगी जिन्होंने सुशील कुमार को उसकी फरारी के समय शरण दी थी और उसकी मदद की थी। वहीं, दिल्ली पुलिस के सामने बड़ी चुनौती है कि वह पहलवान सुशील कुमार के वह कपड़े बरामद करें जो उसने 4 मई की रात वारदात के समय पहने हुए थे।

आपको बता दें कि सुशील कुमार जूनियर पहलवान सागर धनकड़ हत्याकांड में आरोपी हैं। सुशील हरिद्वार में किन-किन जगहों पर रुका था, वहां ले जाकर पूछताछ और जांच की गई। इसके बाद सुशील को लेकर पुलिस ऋषिकेश, देहरादून से पंजाब निकल गई।  हत्या करने के बाद सुशील हरिद्वार में एक बड़े गुरु के आश्रम में भी शरण लेने के लिए आया था। सात मई को उसकी लोकेशन बहादराबाद थाना क्षेत्र के शांतरशाह पुलिस चौकी क्षेत्र में मिली थी। क्राइम ब्रांच की टीम ने जब फोन रिकॉर्ड की जांच की तो पता चला कि उसने कई लोगों से फोन पर बात भी की थी। इसके बाद वह ऋषिकेश चला गया था।

सुशील कुमार की गिरफ्तारी होने के बाद सोमवार को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच नारसन बॉर्डर से शांतरशाह पहुंची। सुशील कुुमार ने क्षेत्र में किन-किन लोगों से फोन पर बात की थी, इसकी जांच और पूछताछ की। करीब दो घंटे बाद क्राइम ब्रांच की टीम सुशील को लेकर ऋषिकेश के लिए रवाना हो गई। यहां से देहरादून होते हुए पंजाब निकल गई। क्राइम ब्रांच के सूत्रों के अनुसार सुशील कुुमार हरिद्वार से ऋषिकेश, देहरादून होते हुए पंजाब गया था।

आपको बता दें कि सुशील कुमार और अजय कुमार सहरावत की पुलिस हिरासत शनिवार को और चार दिन के लिए बढ़ा दी। अदालत ने साथ ही कहा कि कोई भी कानून से ऊपर नहीं है। सुशील कुमार और उसके साथियों ने पहलवान सागर धनखड़ और उसके दो मित्रों के साथ दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में कथित तौर पर मारपीट की थी। सागर ने बाद में दम तोड़ दिया था। सुशील और अजय कुमार की गिरफ्तारी के बाद अदालत ने गत 23 मई को दोनों को छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। हिरासत अवधि समाप्त होने पर शनिवार को अदालत में पेश किये जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने एक अर्जी देकर यह कहते हुए हिरासत सात दिन और बढ़ाने का अनुरोध किया कि सुशील कुमार मुख्य षड्यंत्रकर्ता है और कई बरामदगी अभी की जानी है, जिसके लिए उससे पूछताछ किये जाने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?