आम आदमी को ईंधन की बढ़ती कीमतों से का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि तेल विपणन कंपनियों ने शुक्रवार को एक बार फिर वैश्विक तेल दरों में वृद्धि का बोझ उपभोक्ताओं पर डालने का फैसला किया है। इस हिसाब से दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमत 29 पैसे प्रति लीटर और 28 पैसे प्रति लीटर बढ़कर क्रमश: 95.85 रुपये और 86.75 रुपये प्रति लीटर हो गई।

मुंबई शहर में जहां 29 मई को पेट्रोल के दाम पहली बार 100 रुपये के पार चले गए, वहीं शुक्रवार को पेट्रोल का दाम 102.04 रुपये प्रति लीटर की नई ऊंचाई पर पहुंच गया। डीजल के दाम भी शहर में बढ़कर 94.15 रुपये प्रति लीटर हो गए, जो महानगरों में सबसे ज्यादा है। देश भर में भी पेट्रोल और डीजल की कीमतें शुक्रवार को 26-32 पैसे प्रति लीटर के बीच बढ़ीं, लेकिन विभिन्न राज्यों में स्थानीय करों के स्तर के आधार पर इसकी खुदरा कीमतें अलग-अलग थीं।

राजस्थान में विशेष रूप से सीमावर्ती क्षेत्रों के पास के शहरों में, डीजल एक दिन में 100 रुपये का आंकड़ा छूने की उम्मीद है। तो, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और बिहार में कुछ स्थानों पर ऐसा होगा, जहां उच्च वैट दरों के कारण, ईंधन की कीमतें देश के बाकी हिस्सों की तुलना में हमेशा बहुत अधिक होती हैं। पिछले कुछ महीनों से कई शहरों में प्रीमियम ईंधन पहले से ही 100 रुपये से ऊपर है।

वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से भारत में ईंधन की खुदरा कीमतों में आने वाले दिनों में और मजबूती आने की उम्मीद है बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वर्तमान में आईसीई या इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर 72.23 डॉलर पर है।

रियलमी ने किया भारत में नया एंट्री-लेवल स्मार्टफोन लॉन्च, जानिए क्या होगी कीमत?
चौथी तिमाही में अनुमान से अधिक तेजी से बढ़ सकती है भारत की (GDP) जीडीपी
आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?