भारतीय खिलाड़ी और टीमें टोक्यो ओलंपिक 2020 की 18 खेल विधाओं में भाग लेंगी। इनमें तीरंदाजी, एथलेटिक्स, मुक्केबाजी, बैडमिंटन, घुड़सवारी, तलवारबाजी, गोल्फ, जिम्नास्टिक, हॉकी, जूडो, रोइंग, शूटिंग, नौकायन, तैराकी, टेबल टेनिस, टेनिस, भारोत्तोलन और कुश्ती शामिल हैं।

सरकार ने भारतीय खिलाडियों/टीमों को उनके प्रशिक्षण, विदेशों में खेलने के अवसर और प्रतियोगिताओं के लिए लगातार सहायता प्रदान की है ताकि वे ओलंपिक में भाग लेने के लिए अधिकतम कोटा प्राप्त कर सकें और अपने पदक जीतने के अवसरों को बढ़ा सकें। चयनित खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल संघों और राष्ट्रीय खेल विकास कोष की सहायता योजना से वित्त पोषण के साथ उनके खास प्रशिक्षण एवं प्रतिस्पर्धी अवसरों के लिए सहयोग दिया गया है।

टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (टॉप्स) में शामिल एथलीटों को 50,000/- रुपये प्रति माह का खास भत्ता, आउट ऑफ पॉकेट अलाउअन्स (ओपीए) दिया गया है। महामारी के समय के दौरान, भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के क्षेत्रीय केंद्रों, राज्य सरकारों और गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) की मदद से खिलाड़ियों को उनके घरों में उनके प्रशिक्षण और अभ्यास को बनाए रखने के लिए ज़रूरी खेल उपकरण जैसे बारबेल रॉड्स, वेट्स, एक्सरसाइज साइकिल, एयर पैलेट्स, टारगेट सिस्टम आदि प्रदान करके भी सहायता प्रदान की गई।

सरकार को विश्वास एवं आशा है कि भारतीय खिलाड़ी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे और देश को गौरवान्वित करेंगे, क्योंकि भारत सरकार, भारतीय ओलंपिक संघ और राष्ट्रीय खेल संघों ने खिलाड़ियों को हर संभव सहायता प्रदान की है। युवा मामले एवं खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने आज राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में यह जानकारी दी।

भारत ने एकतरफा जीता कोलंबो वनडे, सीरीज में बनाई 1-0 की बढ़त

आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?