केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि असली दुश्मन कोविड वायरस है, सरकार या मुख्यमंत्री या व्यवस्था नहीं। उच्च सदन में चर्चा में हिस्सा लेते हुए पुरी ने कहा, मुझे यह आभास हुआ है कि एक एहसास जो कई लोगों से बच गया है, वह यह है कि यहां का दुश्मन वायरस है, सरकार या मुख्यमंत्री या व्यवस्था नहीं। यह वह वायरस है जो असली दुश्मन है। पुरी ने कहा कि जब वह नागरिक उड्डयन मंत्री थे, तो वह चीन से आने वाली उड़ानों को रोकने वाले पहले व्यक्ति थे, एक ऐसा कदम जिसका दूसरों ने अनुसरण किया।

हरदीप ने आगे कहा कि पार्टी लाइन के सदस्यों को सुनकर लगता है जैसे उन्हें ये आभास नहीं कि यहां दुश्मन वायरस है, सरकार नहीं, राज्य के मुख्यमंत्री नहीं, सिस्टम नहीं. उन्होंने कहा कि सदन के पटल पर बोली जाने वाली ‘झूठी आरोपों’ और तथ्य की जाँच की जाएगी. हम विपक्ष के आरोपों का मुकाबला किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हम भारत चीन से उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने वाले पहले देशों में से एक थे जिसे फॉलो करते हुए बांकि देशों ने भी उड़ान पर बैन लगाया था. इसके अलावा हमारे देश ने ही देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया था. पुरी ने कहा कि “नागरिक उड्डयन मंत्री के रूप में, मैं चीन से आने वाली उड़ानों को रोकने वाला पहला व्यक्ति था, अन्य देशों ने इस फैसले को देखकर अपने अपने देश में प्रतिबंध लगाया।

उन्होंने टीकाकरण के मुद्दे पर विपक्ष पर भी हमला बोलते हुए कहा, भारत द्वारा टीकों के निर्यात के बारे में ढीली बातें हो रही हैं। क्या आप जानते हैं कि एक टीका क्या है? कई नेता टीकों के बारे में बात करते हैं जैसे कि वे कोई ऐसी चीज है जिसे कोई पड़ोस के केमिस्ट की दुकान से खरीद सकता है। वैक्सीन की खुराक बनाने वाले निर्माताओं को उंगलियों पर गिना जा सकता है। विपक्ष द्वारा महामारी से निपटने के लिए सरकार की आलोचना के बाद मंत्री ट्रेजरी बेंच की ओर से हस्तक्षेप कर रहे थे।

प्रधानमंत्री ने कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर दिया ये संदेश
आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?