फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच 65 की टीम ने एक व्यक्ति की हत्या करने के प्रयास के जुर्म में आरोपियों को अवैध हथियार सप्लाई करने वाले फरार चल रहे आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम अमित है जो उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले के नीलोनी गांव का रहने वाला है।

आरोपी उत्तर प्रदेश से किसी अनजान व्यक्ति के पास से अवैध हथियार खरीद कर लाता था और उसे आपने दोस्तों को सप्लाई करता था। छांयसा गांव के रहने वाले दीपक की कनपटी पर आरोपी अमित के साथियों ने अमित द्वारा सप्लाई किया गया अवैध कट्टा रखकर उसके साथ मारपीट की और उसे बुरी तरह घायल कर दिया। घटना मई 2021 की है जब आरोपियों ने छांयसा गांव के ही रहने वाले दीपक पर फावड़े से हमला करके उसे मारने की नियत से गंभीर चोट पहुंचाई थी।

पुलिस को दी अपनी शिकायत में पीड़ित दीपक ने बताया कि वह सभी आरोपियों को काफी समय से जानता है और इससे पहले उनके साथ उसकी दोस्ती भी थी परंतु एक दिन पार्टी में किसी बात को लेकर उसकी इस घटना के मुख्य आरोपी धर्मेंद्र के साथ कहासुनी हो गई थी।

पार्टी में हुई कहासुनी का बदला लेने के लिए आरोपी धर्मेंद्र ने अपने चार अन्य साथियों दिनेश उर्फ रॉकी, रिंकू, प्रशांत, और पवन के साथ मिलकर 25 मई 2021 को उस पर हमला बोल दिया जब वह है अपने घर पर था।

आरोपियों ने पीड़ित के माता-पिता को कमरे में बंद कर दिया और उसके बाद पीड़ित दीपक की कनपटी पर देसी कट्टा रख दिया तथा फावड़े व लाठी-डंडे से उस पर हमला कर दिया जिसमें पीड़ित को गंभीर चोटें आई तथा उसका कान कट गया।

इसके पश्चात आरोपियों ने पीड़ित के भाई को फोन करके बताया कि उन्होंने उसके भाई को मार कर फेंक दिया है, वह अपने भाई को बचा सकता तो बचा ले। आरोपियों ने पीड़ित के भाई को धमकी दी कि यदि वह बच गया तो वह उसे जिंदा नहीं छोड़ेंगे और यह कह कर आरोपी वहां से फरार हो गए।

इसके पश्चात पीड़ित को फरीदाबाद के सर्वोदय अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां पर उसकी मेडिकल रिपोर्ट करवाई गई जिसमें पीड़ित को आई गंभीर चोटों का वर्णन था। पीड़ित की शिकायत पर थाना छांयसा में आरोपियों के खिलाफ मारपीट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके उनकी तलाश शुरू की गई।

पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह ने इस मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए जल्द से जल्द आरोपियों की धरपकड़ करने के निर्देश दिए जिनके तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच की टीम ने हमले के मुख्य आरोपी धर्मेंद्र को दिनांक 8 जून को अवैध देसी कट्टे सहित गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में आरोपी धर्मेंद्र ने बताया कि उसको देसी कट्टा उसके साथी आरोपी अमित ने उपलब्ध करवाया था।

इसके पश्चात क्राइम ब्रांच ने मामले में शामिल अन्य आरोपियों की धरपकड़ के लिए दबिश देनी शुरू की। आरोपी पुलिस से बचने के लिए ठिकाने बदल बदल कर रहने लगे परंतु अपराधी कितना भी शातिर क्यों ना हो एक ना एक दिन पुलिस के हत्थे चढ़ ही जाता है।

क्राइम ब्रांच की टीम ने अंततः कड़ी मशक्कत करते हुए तीन और आरोपियों दिनेश रिंकू और प्रशांत को गुप्त सूत्रों व साइबर तकनीकी की सहायता से छांयसा गांव से गिरफ्तार कर लिया। इसके पश्चात गिरफ्तार किए गए आरोपियों व साइबर तकनीकी की सहायता से क्राइम ब्रांच ने कल आरोपी अमित को अवैध देशी कट्टे सहित गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह हवाबाजी करने के लिए देसी कट्टा खरीद कर लाया था और उसने इसे अपने दोस्तों को भी सप्लाई कर दिया जिन्होंने मिलकर दीपक पर हमला कर दिया था। पूछताछ पूरी होने के पश्चात पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया है।

IIT रोपड़ ने पहली ऑक्सीजन राशनिंग डिवाइस-एमलेक्स की विकसित, जानिए क्या है खास
आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?