मध्य प्रदेश में बीते एक सप्ताह से कहीं रुक-रुककर और कहीं तेज बारिश ने कई इलाकों में बाढ़ के हालात बना दिए हैं। श्योपुर और शिवपुरी की कई बस्तियां जल मग्न हो गई हैं, तो शिवपुरी के कई गांव पानी से घिर गए हैं। राहत और बचाव कार्य में सेना की मदद ली जा रही है। हेलीकॉप्टर से पानी से घिरे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। राज्य के ग्वालियर-चंबल इलाके में हुई बारिश के चलते कूनो, पार्वती, क्वारी और सिंध नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ा है। श्योपुर जिले के विजयपुर कस्बे की बस्तियों में पानी भर गया है। लोग घरों की छतों पर चढ़ गए, एक मैरिज गार्डन में लोग पानी से घिर गए और उन्हें राहत और बचाव दल के लोगों ने सुरक्षित बाहर निकाला।

इसी तरह शिवपुरी जिले में हुई जोरदार बारिश से बस्तियों में भारी पानी भर गया है। पार्वती नदी उफान पर है और कई गांव घिर गए है। यहां बरखेड़ी, सिलपरी, रायपुर, कुकरेडा और हर्रई भी में बाढ़, सभी गांवों में फंसे हैं। पार्वती नदी के उफान पर आने से टापू में तब्दील हुए गांव में प्रशासन द्वारा राहत एवं बचाव के लिए किए जा रहे हैं। बाढ़ के कारण ग्रामों में फंसे लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाये जाने के प्रयास जारी है। एसडीआरएफ की टीम मौके पर है। पानी के बीच फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए सेना की मदद ली जा रही है। हेलीकॉप्टर लोगों को सुरक्षित निकालने में लगे हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने श्योपुर और शिवपुरी जिलों में कूनो और पार्वती नदी में आई बाढ़ में फंसे लोगों को एयरलिफ्ट कराने के लिए वायु सेना से मदद की बात कही, साथ ही अगले 48 घंटे में ग्वालियर, चंबल संभाग में बारिश की संभावना को देखते हुए ग्रामीणों को गांवों से तत्काल निकलने के लिए कहा।

बैठक में जानकारी दी गई कि कूनो और पार्वती नदी में आई बाढ़ से श्योपुर और शिवपुरी जिले के गांव प्रभावित हुए हैं। राहत और बचाव कार्य के लिए जिला प्रशासन, एस.डी.आर.एफ. कार्यरत हैं। एन.डी.आर.एफ. की टीम भी बाढ़ क्षेत्रों में पहुंच रही है।

घरों से पानी की मोटर उठाने वाले आरोपी को पुलिस टीम ने दबोचा, भेजा जेल
आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?