टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने कहा है कि ओलंपिक में गोल्ड जीतने से बेहतर कोई भावना नहीं है। नीरज का मंगलवार की सुबह भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने एक कार्यक्रम के दौरान सम्मान किया। इसमें 2003 विश्व चैंपिनशिप में ऊंची कूद में कांस्य पदक जीतने वाले अंजू बॉबी जॉर्ज और डिस्कस थ्रो एथलीट कमलप्रीत कौर शामिल हुईं।

नीरज ने कहा, “सभी एथलीट का ओलंपिक में पदक जीतने का सपना होता है और स्वर्ण जीतने से बेहतर कोई भावना नहीं होती है। जब मैंने इसे जीता तो यह सपने जैसा लगा। स्वदेश वापस लौटने पर जिस तरह का सम्मान मिला उसने मुझे एहसास दिलाया कि मैंने क्या उपलब्धि हासिल की है।”

उन्होंने कहा, “मैं उस दिन अच्छी लय में था। मैं अपनी क्षमता बढ़ाने की कोशिश की और जब मेरी दूसरी थ्रो बेहतर रही तो मैंने फैसला किया कि अब अधिक जोखिम नहीं लूंगा क्योंकि मुझे पता था कि मैंने देश के लिए स्वर्ण पदक पक्का कर लिया है।” एएफअई प्लानिंग समिति के चैयरमैन ललित भानोत ने कहा कि राष्ट्रीय एथलेटिक्स संस्था भाला फेंक को प्रमोट करेगा और हर साल सात अगस्त को पूरे देश में प्रतियोगिताआयोजित कराएगा।

पाकिस्तान के जेवलिन थ्रो खिलाड़ी नदीम ने चोपड़ा को दी बधाई, देशवासियों से मांगी माफी

आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?