पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह द्वारा अपराधिक वारदातों में शामिल आरोपियों की जल्द से जल्द धरपकड़ के निर्देशानुसार कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच एनआईटी की टीम ने हत्या के प्रयास के मामले में 4 साल से फरार चल रहे 25000 के इनामी बदमाश को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम शिवचरण उर्फ शिवराम है जो पलवल जिले का रहने वाला है। आरोपी के खिलाफ थाना मुजेसर में हत्या के प्रयास की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज है जिसमें आरोपी ने अपने चार अन्य साथियों के साथ मिलकर नशे के सौदागर लाला के भाई को जान से मारने की कोशिश की थी।

पुलिस को दी अपनी शिकायत में लाला के भाई पीड़ित डेविड ने बताया कि 21/22 जुलाई 2017 की रात को जब वह अपनी दुकान के बाहर बैठा हुआ था तो स्कॉर्पियो तथा स्विफ्ट गाड़ी में 5 व्यक्ति सवार होकर लाला को ढूंढ रहे थे जब उसने लाला का नाम सुना तो वह उनके पास गया।

आरोपियों को जैसे ही पता चला कि वह लाला का भाई है और लाला वहां पर मौजूद नहीं है तो आरोपियों ने उसकी आंखों में मिर्च डाल दी। मिर्च की जलन से पीड़ित कराह उठा और उनकी गाड़ी से दूर भागने लगा। आरोपी पुनित और शिवचरण के अवैध पिस्टल था जिनसे उन्होंने फायर किया जिसमें एक गोली पीड़ित डेविड के पैर में लगी जिससे वह बुरी तरह घायल हो गया। आरोपी सोनू मनोज और कर्ण ने लाठी-डंडों से डेविड के साथ मारपीट की। इतने में आसपास के लोग इक्कठा हुए तो आरोपी मौके से फरार हो गए जिसके पश्चात पीड़ित को अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

शिकायतकर्ता की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास तथा अवैध हथियार अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके उनकी तलाश शुरू की गई। इस मामले में पुलिस इस मामले में 6 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

इस वारदात के पीछे का कारण नशे के सौदागर लाला और शिवाजी नगर के रहने वाले जॉनी के बीच की रंजिश है। दरअसल इस वारदात से कुछ समय पहले शिवाजी नगर की मच्छी मार्केट में कुछ लोगों ने मिलकर जॉनी की पिटाई कर दी थी जिसका शक जॉनी को लाला के ऊपर था।

इसी शक के चलते जॉनी ने अपने साथी गिरिराज के साथ मिलकर आदर्श नगर के रहने वाले बदमाश पुनीत के पास गए और उन्होंने लाला के हाथ पैर तोड़ने के लिए 1 लाख में डील तय की। 50 हजार रूपए उन्हें एडवांस दे दिए गए और बाकी के 50 हजार काम पूरा होने के पश्चात देने की बात कही।

जॉनी द्वारा दी गई सुपारी के चलते बदमाश पुनित ने अपने चार साथियों शिवचरण, सोनू खान, मनोज उर्फ मोनू तथा करण उर्फ कर्नल के साथ मिलकर लाला के भाई के साथ इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आरोपी पुनित, गिरिराज तथा जॉनी को वर्ष 2017, आरोपी सोनू को वर्ष 2019 तथा आरोपी करण को वर्ष 2021 में गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी शिवचरण पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए पलवल, उत्तर प्रदेश तथा दिल्ली में फरारी काट रहा था जो दिनांक 11 अगस्त को फरीदाबाद सेक्टर 58 में आया हुआ था। क्राइम ब्रांच इसी मौके की तलाश में थी कि कब आरोपी बाहर आए। जैसे ही आरोपी फरीदाबाद आया तो गुप्त सूत्रों की सहायता से क्राइम ब्रांच एनआईटी ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी के कब्जे से सुपारी में लिए गए 3000 रूपए बरामद किए गए हैं और इसने अपने पास रखा अवैध कट्टा किसी अनजान व्यक्ति को बेच दिया था। आरोपी शिवचरण एक शातिर किस्म का अपराधी है जिसके खिलाफ हत्या का प्रयास, लूट, मारपीट, स्नैचिंग तथा अवैध हथियार सहित 14 मुकदमे दर्ज हैं। पूछताछ पूरी होने के पश्चात पुलिस द्वारा आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

पुलिस ने लापता 5 वर्षीय इकलौते पुत्र को परिजनों से मिलाया

आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?