कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, आनंद शर्मा और अधीर रंजन चौधरी ने गुरुवार को हुई सर्वदलीय बैठक के दौरान मांग की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को युद्धग्रस्त देश अफगानिस्तान की स्थिति और सरकार के रुख के बारे में विपक्ष को जानकारी देनी चाहिए।

कांग्रेस नेताओं ने अफगानिस्तान संकट पर तालिबान के साथ दोहा, कतर में हो रही गुप्त वार्ता की खबरों के बारे में भी पूछा, लेकिन सूत्रों ने कहा कि सरकार ने इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की। कांग्रेस नेताओं ने सरकार की निकासी रणनीति और अफगानिस्तान में अभी भी कितने भारतीय फंसे हुए हैं, यह जानने की भी मांग की।

कांग्रेस नेताओं ने सरकार से अफगानिस्तान के लोगों के साथ एकजुटता व्यक्त करने और मौलिक अधिकार और स्वतंत्रता के सिद्धांतों को बनाए रखने के लिए कहा। भारत सरकार द्वारा मानवीय सहायता के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं, उन्होंने यह जानने की मांग की। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि ऐसी धारणा है कि भारत इस क्षेत्र में अपने पारंपरिक सहयोगियों से अलग-थलग प्रतीत होता है।

सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने पूछा, प्रधानमंत्री ने हाल ही में रूसी राष्ट्रपति और जर्मन चांसलर से बात की थी। हम जानना चाहेंगे कि इन चर्चाओं के दौरान क्या हुआ? इसके अलावा, हमारी स्थिति को मजबूत करने के लिए कौन से राजनयिक या अन्य रणनीतिक कदमों की योजना बनाई जा रही है।

पाक मुल्लाओं ने अफगानिस्तान में तालिबान की जीत की सराहना की

आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?