त्योहारों के मौसम में जहाँ चोर नये-नये तरीके अपनाकर चोरी की घटना को अंजाम देते हैं। वहीं फरीदाबाद पुलिस भी अपराध पर लगाम लगाने के लिए नित नई रणनीति को सफल बनाते हुए आरोपियों को जेल भेज रही है। अपराध शाखा-85 प्रभारी सुमेर सिंह की पुलिस टीम ने ऐसी ही एक चोर गिरोह का भंडाफोड़ कर दो महिला सहित गिरोह के तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में अर्जुन, अर्जुन की पत्नी संगीता तथा उनकी पड़ोसी आरोपिता कांता का नाम शामिल है। चोरी करने के लिए आरोपियों ने बहुत ही अनोखा तरीका अपनाया हुआ था। आरोपी अर्जुन ने एक ऑटो लिया था और अपनी पत्नी के साथ पड़ोसन को ऑटो पर बिठा कर भीड़-भाड़ वाले स्थानों से सवारी को उनके गंतव्य तक पहुँचाने के लिए झाँसा देकर ऑटो पर बिठा लेता था।

ऑटो पर पहले से सवार दोनों महिला आरोपी सवारियों से सहयात्री के रूप में बातचीत करते हुए घुलमिल जाती थी और अवसर देखते ही उनके गहने-आभूषण पर हाथ साफ कर देती थी। चालक के रूप में आरोपी अर्जुन गिरोह की महिलाओं को कामयाब देख सवारियों से आगे नहीं जाने का बहाना बनाकर ऑटो से सवारी को उतार देता और उसे सुनसान जगह पर उतार देता था।

कई बार आभूषण चोरी करने के बाद गिरोह की महिला सदस्य भी किसी भीड़भाड़ वाली अनजान जगह पर उतरकर गुम हो जाती थी। पीड़ित सवारी को जबतक उसके गहने चोरी होने की सुध होती तबतक आरोपी महिलायें गायब हो चुकी होती थी।

चोरी के आभूषण खपाने का तरीका भी अद्भूत था। महिला आरोपी किसी अस्पताल के सामने दुधमुंहे अथवा अबोध बच्चे को लेकर खड़ी हो जाती और वहाँ आने-जाने वाले से, इलाज कराने के लिए पास में पैसे नहीं होने के कारण आभूषण बेचने की मजबूरी बता देती थी। भावना में बहकर व सस्ते मूल्यों पर आभूषण मिलने के लालच में आमजन चोरी के गहने खरीद लेते थे और इस तरह चोरी की पूरी प्रक्रिया को सफलतम अंजाम दिया जा रहा था। इसमें से एक महिला आरोपी कांता वर्ष 2018 में स्नैचिंग के मामले में जेल भी जा चुकी है।

जब पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर दोनों महिला आरोपियों को एनआईटी गोलचक्र से गिरफ्तार किया तो उसके पास से दो मंगलसूत्र और एक जोड़ी कान की बाली बरामद हुई। आरोपी इसे बेचने के लिए ग्राहक तलाश रही थी। महिला आरोपियों की निशानदेही पर गिरोह का मास्टरमाइंड अर्जुन को कोढ़ी कॉलोनी से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपियों की कुंडली खंगालने पर पता चला कि यह गिरोह पिछले दो साल से सक्रिय है। तीनों आरोपियों ने फरीदाबाद के विभिन्न थानाक्षेत्र में चोरी की 16 घटना को अंजाम दिया है और पुलिस ने सभी मामलों में इन आरोपियों के विरूद्ध मामले भी दर्ज किये हैं। पुलिस को बहुत दिनों से तीनों आरोपियों की तलाश थी।

अन्य मामलों में गिरफ्तार आरोपी के पास से पुलिस ने चोरी में प्रयोग किया गया ऑटो, दो लाख सोलह हजार रूपये, दो सोने की चैन व 3 सोने की मंगलसूत्र, 1 जोड़ी सोने के टॉपस और एक मोबाईल फोन बरामद किया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों से मामले में आवश्यक पूछताछ पूरा करने के बाद न्यायालय में प्रस्तुत किया। न्यायालय के आदेश पर तीनों आरोपियों को स्थानीय कारावास भेज दिया गया।

कृष्ण जन्माष्टमी पर सोतई गांव में गोली मारकर की गई हत्या मामले में 2 आरोपी राउंड अप

आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?