भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने पूर्व खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के इस साल होने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप के लिए टीम इंडिया के मेंटर बनाए जाने पर खुशी जाहिर की है। हालांकि, उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है धोनी का रणनीति और टीम चयन को लेकर टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री के साथ टकराव नहीं होगा।

भारत ने टी20 विश्व कप के लिए अपनी टीम घोषित कर दी है। इस दौरान उन्होंने इस टूर्नामेंट के लिए धोनी को मेंटर बनाने की भी घोषणा की। गावस्कर ने आजतक से कहा, धोनी के नेतृत्व में भारत ने 2011 विश्व कप जीता और चार साल पहले उन्होंने 2007 में टी20 विश्व कप जीता था। उनकी नियुक्ति होना भारत के लिए फायदेमंद होगा।

उन्होंने कहा, एक समय था जब तत्कालीन कोच जॉन राइट थोड़े नर्वस रहते थे। उन्हें लगता था कि मैं उनकी जगह लूंगा। लेकिन शास्त्री को पता है कि धोनी को कोचिंग में कम रूचि है। अगर साझेदारी अच्छी रही तो भारत को इससे फायदा होगा। गावस्कर ने कहा, अगर रणनीति और टीम चयन को लेकर कुछ भिन्नता रही तो इसका असर टीम पर पड़ सकता है। लेकिन धोनी की नियुक्ति होना टीम इंडिया के लिए बड़ा बूस्ट है। उनके पास काफी अनुभव है और वह सब जानते हैं।

जब धोनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सक्रिय थे तो उनसे बड़ा कोई खिलाड़ी नहीं था। पूर्व कप्तान ने कहा, धोनी की नियुक्ति अच्छी खबर है लेकिन मैं बस प्रार्थना कर रहा हूं कि कोई टकराव नहीं हो। गावस्कर ने कहा कि उन्हें शक है कि सीनियर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को अंतिम एकादश में जगह दी जाएगी जिन्होंने जुलाई 2017 से टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है।

बुमराह के होने पर अश्विन की जरूरत नही : ट्रेमलेट

आप हमें हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मस FACEBOOKINSTAGRAMTWITTER पर भी फोलो कर सकतें है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×

Powered by WhatsApp Chat

× How can I help you?